Tuesday, April 7, 2009

"गीत"

"गीत"


मैंने जो गीत तेरे प्यार की खातिर लिखे
आज दुनिया की नज़र उनका पता पाएगी,

किस तरह चाहा है पूजा है सराहा है तुम्हें
प्यार की दुनिया में तारीख लिखी जायेगी..
तेरे चेहरे की तमानत ये सदा देती है
प्यार खिलता है तो चेहरे से अयाँ होता है

कोई जब जन्मो के रिश्तों से बंधा होता है
उसका सम्बन्ध हर एक गाम बयाँ होता है..


27 comments:

Anil Pusadkar said...

sunder,aur chitro ka sanyojan bhi achha hai.badhai

सतीश सक्सेना said...

बहुत सुंदर अभिव्यक्ति है !

'sakhi' 'faiyaz'allahabadi said...

Dear Seema Ji,
Waise to aap ke har geet mein pyar ki khushboo kisi na kisi rang mein basee hi rahtee hai. Lekin is geet meinjaise aap apnee khamoshi lo tod kar eilaan kar dena chaahti hain , bata dena chahti hai dunia ko ki aap ke pyar seemaaon ko aanka nahee ja sakta, janm janm ke bandhan ................aisa pyar ka rishta................haan har shabd se iska bayan hota hai

नीरज गोस्वामी said...

सीमा जी
आप की रचनात्मक ऊर्जा से मैं हैरान हूँ....कैसे रच लेती हैं आप इतनी रचनाएँ...वाह..
नीरज

परमजीत बाली said...

बहुत सुन्दर!!

Advocate Rashmi saurana said...

सीमा जी इस बार तो बहुत ही अलग सी रचना कर डाली है आपने. बहुत सुंदर.

Nitish Raj said...

सीमा जी
आपकी कलम किस के लिए चलती है चित्र तो सब बयान कर रहे हैं। ये अच्छा लगा। सुंदर।

शोभा said...

काफी रोचक और शानदार लिखा है। पढ़ते समय पाठक बँध जाता है

Udan Tashtari said...

सुन्दर कविता.. बधाई !!

seema gupta said...

"Dear All, I am obliged and hearties thanks for reading and giving me your support and encouragement"

Regards

रंजना [रंजू भाटिया] said...

सुंदर कविता लिखी है आपने

"SURE" said...

first class love song likha hai,love is there,divinity is there.and above all sincerity is there....

बालकिशन said...

वाह वाह
बहुत ही खुबसूरत रचना.
आभार.

छत्तीसगढिया .. Sanjeeva Tiwari said...

प्‍यार खिलता है तो चेहरे से अयॉं होता है
लाजवाब पंक्ति .........


शुक्रिया ।

mukesh said...

wah seema ji wah kya kuhb likha hai,

wesee to har line apni jagha ek alag chhap chourti he par in lineo main sab kuch bayaa ho raha hai




maine jo geet tere pyar ki khatir likhe, aaj dunia ki najar unka pata payegi,

ek bar firse ish rachna ko bhi meri traf se 1st no.

or dher sari badhaiya.

Rakesh said...

"Koi jab janmo ke rishto se bandha hota hain , uska sambandh har ek gam mein bayan hota hain"
really very sweet line....

G M Rajesh said...

मैंने जो गीत तेरे प्यार की खातिर लिखे
आज दुनिया की नज़र उनका पता पाएगी,

प्यार खिलता है तो चेहरे से अयाँ होता है

today i found
mythologal carecters with the title GEET
please change your
love never loves
title which is written & expressed by words
love is full of pain, tears & sorrow
because you said today प्यार खिलता है तो चेहरे से अयाँ होता है

nice expressions again
thanks

अल्पना वर्मा said...

bahut dino baad aap ne apne is blog par likha hai..

pahle to blog page ki sabhi tasweeren dekhti rahi...
bahut hi pyara collection hai.

तेरे चेहरे की तमानत ये सदा देती है
प्यार खिलता है तो चेहरे से अयाँ होता है
waah!
bahut hi sundar likha hai.

sundar rachna.

दिगम्बर नासवा said...

कोई जब जन्मो के रिश्तों से बंधा होता है
उसका सम्बन्ध हर एक गाम बयाँ होता है..

बहूत दिनों बाद आपने इस blog में कुछ लिखा............बहूत ही सुन्दर रचना likhi है
pyaa और usk एहसास aisaa ही होता है...........उसकी महक हर cheeej में नज़र आती है

vijaymaudgill said...

बहुत दिनों के बाद आने के लिए माफ़ी चाहता हूं। मगर आज आपकी रचना पढ़ी तो सच में मज़ा आ गया।

तेरे चेहरे की तमानत ये सदा देती है
प्यार खिलता है तो चेहरे से अयाँ होता है

सच में बहुत ख़ूब

जितेन्द़ भगत said...

सुंदर गीत।

एम.एस शकील said...

मैं आप के काव्‍य हृदय से बेहद प्रभावित हूं. आगे भी आप से ऐसे ही कविताओं की आशा है. धन्‍यवाद.......

Navnit Nirav said...

bahut achchhi rachana hai. kaphi pasand aai.
Navnit Nirav

ललितमोहन त्रिवेदी said...

बहुत खूब सीमा जी ! यूँ ही उत्सुकतावश आपके ब्लॉग पर चला आया , विचारों और भावों का अद्भुत सामंजस्य है आपके शब्दों में ! खूब लिखें !

Pramod Kumar Kush 'tanha' said...

मैंने जो गीत तेरे प्यार की खातिर लिखे
आज दुनिया की नज़र उनका पता पाएगी,

aapki lekhni kii koi 'seema' nahiin.khubsoorat rachna ke liye badhayee.

महामंत्री - तस्लीम said...

दिल के जज्बों के लफजों से सजाना कोई आपसे सीखे।
----------
तस्‍लीम
साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन

kumar Dheeraj said...

सीमीजी अति सुन्दर लिखा है आपने । इस लिखावट पे कौन कु्वाॆन नही हो जाय । खासकर ये लाइन जो आपने लिमैंने जो गीत तेरे प्यार की खातिर लिखे
आज दुनिया की नज़र उनका पता पाएगी,

खी है बेजोड़ है भेजने के लिए शुक्रिया