Saturday, June 1, 2013

" दुनिया के छूटने का कोई ग़म नही मुझे"

" दुनिया के छूटने का कोई ग़म नही मुझे
तुझसे जुदा हुई हूँ ये एहसास है अभी "


"Dunya ke chootne ka koi gham nahi mujhe
Tujhse juda huee hu ye ehsaas hai abhi "

2 comments:

Shalini Kaushik said...

बहुत भावात्मक अभिव्यक्ति .आभार . ''शादी करके फंस गया यार ,...अच्छा खासा था कुंवारा .'' साथ ही जानिए संपत्ति के अधिकार का इतिहास संपत्ति का अधिकार -3महिलाओं के लिए अनोखी शुरुआत आज ही जुड़ेंWOMAN ABOUT MAN

ताऊ रामपुरिया said...

लाजवाब...बहुत ही लाजवाब.

रामराम.